CM योगी आदित्यनाथ बोले, अच्छा हुआ सपा-बसपा एक हो गए, हमारे लिए उन्हें निपटाना आसान होगा

NEW DELHI:  बसपा सुप्रीमों मायावती और समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव  के बीच गठबंधन का ऐलान बीते दिन किया गया। इस दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस में बीएसपी सुप्रीमों मायावती ने जानकारी देते हुए बताया कि सपा और बसपा 76 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसमें एसपी 38 और बसपा भी 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके अलावा, 2 सीटें उन्होंने सहयोगी पार्टी के लिए छोड़ दी हैं, जबकि रायबरेली और अमेठी की सीट उन्होंने कांग्रेस से बिना गठबंधन किए उनके लिए छोड़ दी हैं।


इसी बीच सपा बसपा के गठबंधन पर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रतिक्रिया दी है। इसको लेकर उन्होंने कुंभ मेला पर इंडिया टुडे के गोलमेज सम्मेलन के दौरान कहा कि अब दोनों ही पार्टियों एक हो चुकी है, जिसकी वजह से अब हमें राजनीतिक रूप से इन दोनों पार्टियों से निपटना आसान रहने वाला है।
अपनी बात को जारी रखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि साल 1993 से लेकर साल 1995 तक इन दोनों दलों की संयुक्त सरकार राज्य में थी। इस दौरान प्रदेश में कानून व्यवस्था कैसी थी। यह जनता भली भांति जानती है।   योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा  कि आखिर सपा-बसपा के गठबंधन ने कौन सा ऐसा काम कर लिया, जिसके लिए जनता उनको वोट करना चाहेगी।उन्होंने  कहा कि बसपा के समय में दो तीन जिले और सपा के समय में पांच जिलों को ही बिजली मिलती थी। साथ ही उस दौरान हाई कोर्ट की नियुक्तियों को भी रोक दिया गया था। यह सिर्फ अपना वजूद बचाने की कोशिश के अलावा और कुछ नहीं है। जनता सच्चाई जानती है और वे उसी के मुताबिक वोट करेगी।