पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और लेफ्ट के बीच नहीं बनी बात, गठबंधन टूटा, अकेले लड़ेगी कांग्रेस

New Delhi: लोकसभा चुनाव को लेकर पश्चिम बंगाल में कांग्रेस और लेफ्ट के बीच गठबंधन को लेकर बात नहीं बनी है।

बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष सोमेंद्र नाथ मित्रा ने लेफ्ट से समझौते के प्रस्ताव को खत्म करने का ऐलान किया है। उनका कहना है कि वाम दल बेवकूफ बना रहे हैं और कांग्रेस पर शर्ते थोप रहे हैं। ऐसे कांग्रेस पश्चिम बंगाल की सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी।

सोमेंद्र नाथ मित्रा ने कहा कि लेफ्ट ने बिना किसी सलाह के राज्य की 25 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर दिया है। जिसके चलते अब कांग्रेस पार्टी बीजेपी और टीएमसी से लोकसभा चुनाव में अकेले सामना करेगी।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

मित्रा ने कहा कि शुरुआता से गठबंधन के लिए केवल हम समझौता कर रहे हैं। मुर्शिदाबाद और रायगंज सीट के लिए सीपीएम के आगे हम झुकें। इन दोनों सीटों से हमारे नेता चुनाव लड़ना चाहते थे। लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहल गांधी के निर्देश के बाद हम मान गए। अब लेफ्ट वाले हमसे कह रहे हैं कि वह हमें सिर्फ 12 सीटें देंगे और 31 पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे।

कांग्रेस नेता ने कहा कि हमने उनका ये प्रस्ताव ठुकरा दिया है और उनसे साफ शब्दों में कह दिया है कि इस बार हम नहीं झुकेंगे। सबसे हैरान करने वाली बात है कि वह ने केवल हमारी सीटों की संख्या तय करेंगे। बल्कि दार्जिलिंग और बीरभूमि जैसी सीटों से हमारे उम्मीदवारों का फैसला भी वे ही करेंगे। मैंने राहुल जी को सबकुछ बता दिया है अब आगे का फैसला उन्हें लेना है। मुझे इस गठबंधन का भविष्य नजर नहीं आ रहा है।