शिवराज बोले- नेहरू के भरोसे होते तो हैदराबाद भी हाथ से जाता, वह तो सरदार पटेल थे

New Delhi: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर कश्मीर समस्या को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पं श्यामा प्रसाद मुखर्जी नहीं होते तो कश्मीर का जो दो तिहाई अंग भारत का है, वह भी नहीं होता। जवाहरलाल नेहरू के भरोसे होते तो हैदराबाद भी हाथ से जाता। वह तो सरदार पटेल थे, जिन्होंने हैदारबाद के निजाम को कह दिया कि मान जाओ, नहीं तो ठीक नहीं होगा।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश में जोड़ तोड़कर कांग्रेस ने सरकार बना ली और कर्नाटक में उनके समर्थन से जेडीएस सरकार चल रही है। हाथ तो मिले हैं लेकिन दिल नहीं मिले हैं। कांग्रेस ने न तो मध्य प्रदेश में किसानों और जनता से किया गया वादा पूरा किया न कर्नाटक में।

https://twitter.com/OfficeofSSC/status/1115557043090288641

शिवराज ने आगे कहा कि मैंने ऐसा मुख्यमंत्री नहीं देखा जो दिन रात रोता रहता है। कांग्रेसी उसे परेशान कर रहे हैं। सबसे ज्यादा रोने वाले मुख्यमंत्री हिंदुस्तान में यदि कहीं है, तो कर्नाटक में हैं। बड़े वादे किए थे लेकिन एक भी पूरा नहीं किया।

लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी के प्रचार के लिए शिवराज सिंह चौहान कर्नाटक के दौरे पर हैं। जहां पर एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने के दौरान उन्होंने ये बाते कहीं हैं। कांग्रेस पर जनता से वादाखिलाफी करने का आरोप लगाया है।