1980-1990 से जो आंदोलन चल रहा है जबतक मंदिर पूरा नहीं होगा तब तक आंदोलन चलता रहेगा-भैयाजी जोशी

New Delhi: राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का मामला देश में जोरो से चल रहा है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में इसकी सुनवाई के दौरान इस मामले में मध्यस्थता की है जिसमें तीन लोगों की टीम बनाई है। जिसके बाद से हर तरफ इसे लेकर बयानबाजी शुरू हो गई है।

इसी दौरान राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ, महासचिव, भैयाजी जोशी ने भी कहा है। उन्होनें बोला है कि 1980-1990 से जो आंदोलन चल रहा है जबतक मंदिर पूरा नहीं होगा तब तक आंदोलन चलता रहेगा। हम न्यायालय से अपेक्षा करते हैं कि शीघ्रता से इसके संदर्भ में फैसला दे।

साथ ही कहा है कि हम मानते हैं कि सत्ता में बैठे हुए लोगों को अभी राम मंदिर का विरोध नहीं है। उनकी प्रतिभा को लेकर हमारे मन में कोई शंका नहीं है। 8 मार्च को अयोध्या भूमि विवाद में मध्यस्थता को लेकर बड़ा फैसला सुनाया है। अयोध्या मामले में SC ने मध्यस्थता की प्रक्रिया को गुप्त रखने का आदेश दिया है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता का आदेश दिया। SC ने जस्टिस इब्राहिम खफीउल्लाह और रविशंकर को मध्यस्थ बनाया। मोदी सरकार के मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा कि ये मामला कई सालों से पहले हाई कोर्ट में पेंडिंग था। उसके बाद 2010 से सुप्रीम कोर्ट में पेंडिंग हैं। लेकिन आज सुप्रीम कोर्ट ने स्वागत योग्य फ़ैसला दिया हैं। मध्यस्था के ज़रिए राम मंदिर विवाद को सुलझना चाहिए। मुझे लगता हैं जल्दी ही राम मंदिर का रास्ता साफ़ हो जायेगा।

SC ने कहा 4 हफ्ते में स्टेटस रिपोर्ट और 8 हफ्ते में अंतिम रिपोर्ट। SC ने जस्टिस इब्राहिम खफीउल्लाह और रविशंकर को मध्यस्थ बनाया। वहीं मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी ने कहा कि बातचीत से ये मामला हल हो जाए तो बेहतर है। हम मामले में फैसला चाहते। वहीं दूसरी तरफ हिंदू महासभा के वकील विष्णु शंकर जैन ने कहा कि हमें नहीं लगता कि मध्यस्थता के माध्यम से इस मामले का हल किया जा सकता है, लेकिन चूंकि माननीय अदालत ने एक प्रक्रिया रखी है। हम इंतजार करेंगे और देखेंगे।

इनपुट- ANI