मैं हिं’सा का विरोध करती हूं,क्योंकि जब यह अच्छे के लिए होता है तो यह अच्छा अस्थायी होता है

New Delhi: मंगलवार को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पहली बार रैली को संबोधित किया था। जिसके बाद उन्होनें अपने ट्विटर अकाउंट पर भी पहली बार ट्वीट किया था। उन्होनें करीब एक महीने बाद लगातार दो ट्विट किए।

पहले ट्वीट में उन्होनें साबरमती आश्रम की एक फोटो पोस्ट की है वहीं दूसरे पोस्ट में उन्होनें महात्मा गांधी की लाइन लिखी हैं- मैं हिं’सा का विरो’ध करती हूं क्योंकि जब यह अच्छे के लिए होता है तो यह अच्छा अस्थायी होता है; लेकिन उससे जो बु’री चीजें होती है वह स्थायी होती हैं।” जिसके बाद से लगातार उनके फॉलोअर्स भी बढ़ने लगे हैं। फिलहाल ट्विटर पर प्रियंका गांधी के फॉलोवर्स की संख्या 2 लाख 31 हजार से ज्यादा है। बता दें कि प्रियंका गांधी ने ये अकाउंट फरवरी में ही बनाया था।

वहीं मंगलवार को पहली बार प्रियंका गांधी ने रैली को संबोधित किया था। जिस दौरान उन्होनें प्रधानमंत्री मोदी पर निशा’ना साधा था। उन्होनें कहा था कि आज जो कुछ देश में हो रहा है, उससे दुख होता है। इससे बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है कि आप जागरूक बनें। आपकी जागरूकता एक ह’थियार है। आपका वोट एक ह’थियार है,’ लेकिन ये एक ऐसा ह’थियार है जिससे किसी को चो’ट नहीं पहुंचानी, किसी का नुक’सान नहीं पहुंचाना। ये एक ऐसा ह’थियार है जो आपको मजबूत करेगा।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

साथ ही उन्होनें कहा था कि वे पहली बार गुजरात आई हैं। यहां साबरमती के आश्रम में जब वे पेड़ों के नीचे, आश्रम में गईं तो उनकी आंखों से आंसू आ गए। मैं आपको बता नहीं सकती कि वहां उस आश्रम में पेड़ों के नीचे बैठे हुए, भजन सुनते हुए मेरे दिल में क्या भावना जागी। ऐसा लगा कि बस मेरे आंसू आने वाले हैं तो फिर मैंने उन देशभक्तों के बारे में सोचा, जिन्होंने देश के लिए अपनी जा’न दी, सब कुछ त्या’ग कर दिया। उनके बलि’दानों पर इस देश की नींव डली है। वहां बैठे हुए मन में ये बात आई कि ये देश, प्रेम, सद्भावना और आपसी प्यार के आधार पर बना है।