प्रणब दा बोले-भारत को ऐसे नेताओं की जरूरत,जो राष्ट्र की अपेक्षाओं को पूरा करने में मदद कर सकें

New Delhi: भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने चुनावी माहौल के बीच भारत के नेतृत्व को लेकर बड़ा बयान दिया है।

पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न से सम्मानित प्रणब मुखर्जी ने कहा कि क्विकजोटिक वीरता इस राष्ट्र का नेतृत्व नहीं कर सकती है। भारत के नेतृत्व के लिए ऐसे नेताओं की आवश्यक्ता है जो राष्ट्र की बढ़ती अपेक्षाओं को पूरा करने में उनकी मदद कर सकें।

प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा कि तरक्की के बावजूद भारत को गरीबी से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए और मानव विकास के उच्चतम स्तर को प्राप्त करने के लिए अभी एक लंबा सफर तय करना है। जिसके लिए सही नेतृत्व का होना आवश्यक है।

पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि विश्व की प्रतिष्ठित पत्रिका फोर्ब्स की अमीरों की लिस्ट भारत के अरबपतियों की संख्या बढ़ना अच्छी बात है और ये देश की तरक्की को दिखाता है। वहीं दूसरी तरफ हर साल मिडिल क्लास की संख्या में इजाफा होना और ही ज्यादा महत्वपूर्ण हैं।

पूर्व राष्ट्रपति और एक समय दिग्गज कांग्रेसी नेता रहे प्रणब मुखर्जी का चुनावी मौसम में यह बयान बड़ा महत्वपूर्ण हैं। प्रणब दा अक्सर कई मौकों पर देश और उससे जुड़े मुद्दों पर अपनी राय रखते रहते हैं। कुछ महीनों पहले प्रणब मुखर्जी ने देश की अर्थव्यवस्था को लेकर बड़ा बयान दिया था।