नितिन गडकरी बोले- जो 3 बार फेल होता वो मंत्री बनता है, मुझे जो कहना है, वो मुंह पर कहता हूं

New Delhi: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को एक बड़ा बयान दिया है। उन्होनें कहा है कि “जो मेरिट में आता है, वह आईएएस और आईपीएस बनता है। जो सेकेंड क्लास पास होता है, वह चीफ इंजीनियर बनता है। लेकिन, जो तीन बार फेल होता है, वह मंत्री बनता है। राजनीति में आने के लिए कोई क्वालिटी की जरूरत नहीं होती है।”

नागपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होनें कहा कि मैं कभी झूठ नहीं बोलता हूं, क्योंकि झूठ बोलना मुझे आता नहीं है। जो भी कहना होता है मुंह पर बोलता हूं,जिससे कई लोग नाराज भी हो जाते हैं। मैं उन लोगों की तरह नहीं हूं, जो झूठा रोते हैं और झूठा हंसते हैं। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो दूसरों के चेहरे पर अच्छी-अच्छी बातें करते हैं, लेकिन मन में उन्हें पसंद नहीं करते हैं। आगे उन्होनें कहा- “चतुर और चतरा इन दो शब्दों में अंतर है।”

जब गडकरी से ये सवाल किया गया कि राजनीती में करियर बनाने के लिए क्या गुण होने चाहिए। तो इसके जवाब में उन्होनें कहा कि राजनीति में आने के लिए आपको ईमानदार होना चाहिए। ईमानदारी, पारदर्शिता, धैर्य, गुण और काम को लेकर प्रतिबद्धता जैसे मूल्य लंबी दौड़ में काम आते हैं।’

”मैंने राजनीति को कभी अपने करियर के तौर पर नहीं चुना। मेरे शुरुआती दिनों से ही मैं राजनीति को सामाजिक एवं आर्थिक सुधार का जरिया मानता रहा हूं, जिसके जरिए मैं देश, समाज एवं गरीबों के लिए कुछ कर सकता हूं। राजनीति में किसी गुण की जरूरत नहीं है।”

वहीं बीजेपी सरकार की उपलब्धियों को गिनवाते हुए उन्होनें कहा कि ”केंद्र सरकार ने अब तक जो काम किए हैं, वह पहली रील है। पूरी पिक्चर तो अभी भी बाकि है। बीजेपी सरकार भारत को दुनिया की नंबर वन ताकत बनाना चाहती है और इसीलिए पार्टी अनेकता में एकता के सिद्धांत को लेकर आगे बढ़ रही है।