पूर्व जज काटजू ने SC से लगाई गुहार, बीमार PAK नागरिक को सरकार से वीजा दिलवानें में करें मदद

New Delhi: सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज मार्कंडेय काटजू ने सर्वोच्च न्याययालय से एक पाकिस्तानी नागरिक की मदद करने की अपील की है।

दरअसल पूर्व जज मार्केंडेय काटजू ने फेसबुक पोस्ट के जरिए एक बीमार पाकिस्तानी नागरिक की मदद करने की अपील की है। साथ पूर्व जज ने सुप्रीम कोर्ट को अपनी इस पोस्ट को एक याचिका के रुप में देखने को कहा है। काटजू ने लिखा है कि वो इस समय देश से बाहर हैं इसलिए फेसबुक के जरिए ही बारे में याचिका दाखिल कर सकते हैं।

अपनी फेसबुक पोस्ट में पूर्व जज मार्कंडेय काटजू ने सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई से अपील की है कि इस पाकिस्तानी नागरिक की इंसानियत के नाते सहायता कीजिए। काटजू ने पाकिस्तानी नागरिक की अलीम जुनेजो की बारे में बताते हुए कहा था कि उसका लंग ट्रांसप्लांट होना बहुत जरुरी है। जिसका इलाज दूसरी जगहों से भारत में सस्ता हैं।

काटजू ने आगे अपनी पोस्ट में लिखा है कि अलीम जुनेजों की पत्नी मारिया अब्दुल्लाह ने इलाज के लिए किसी तरह पैसे इकट्ठे कर लिए हैं और चेन्नई का एक अस्पताल भी इलाज करने के लिए तैयार हो गया है। मगर भारत सरकार ने पाकिस्तानी नागरिक को मेडिकल वीजा देने से इनकार कर दिया है।

Markandey Katju

पूर्व जज काटजू ने कहा कि मारिया ने पहली बार 1 जून 2018 को मेडिकल वीजा के लिए आवेदन किया था। लेकिन सरकार ने उसके इस आवेदन को अस्वीकार कर दिया। लेकिन इसके बाद भी कई बार भारत सरकार को आवेदन किया लेकिन उसे जवाब नहीं मिला।

काटजू ने कहा कि भारतीय संविधान का अनुच्छेद 21 जीने का अधिकार प्रदान करता है जो केवल भारतीयों तक सीमित नहीं है बल्कि सभी लोगों के लिए लागू होता हैं। उन्होंने कहा कि वो नागरिक भले ही भारत का न हो लेकिन एक इंसान है इसलिए उसे भी इसका फायदा मिलना चाहिए। मेरी सुप्रीम कोर्ट से अपील की है कि वो इस मामले में विदेश मंत्रालय और भारत सरकार को इंसानित का रुख अपनाने की सलाह देते हुए मेडिकल वीजा जारी करने का आदेश दें।