केदारनाथ धाम ने ओढ़ी बर्फ की सफेद चादर, माइनस में पहुंचा पारा, दिल्ली में भी बढ़ सकती है परेशानी

New Delhi: J&K, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हल्की बारिश और बर्फबारी बीते तीन दिनों से देखने को मिल रही है। वहीं इसका असर उत्तराखंड स्थित Kedarnath में भी देखने को मिल रही है, जहां पर बीते दिन से भारी बर्फबारी हो रही है। कल से ही तापमान इतना कम है कि पानी भी जम जा रहा है। पानी पीने के लिए पहले बर्फ को पिघलाना पड़ता है। साथ ही मौसम विभाग की मानेें तो आने वाले 24 से 48 घंटों में दिल्ली और एनसीआर समेत बाकी के इलाकों में एक बार फिर ठंड बढ़ सकती है।

इस बर्फ का असर पवित्र धाम के आसपास करीब पांच फीट की बर्फ जम चुकी है, जिससे पुनर्निर्माण का काम भी रोकना पड़ना। आपको बता दें कि इन दिनों केदारनाथ में शंकराचार्य समाधि स्थल के लिए खुदाई का कार्य चल रहा है। इसके अलावा घाट के लिए मशीने से पत्थर काटने सहित कई कार्य हो रहे हैं, लेकिन बर्फबारी की वजह से इन सभी कामों में परेशानी हो रही है। इसका असर दिल्ली और एनसीआर पर भी पड़ रहा है।

इसके अलावा बात अगर J&K की करें तो यहां पर भी बीते कुछ दिनों से भारी बर्फबारी देखने को मिल रही है।साथ ही बर्फबारी के चलते घाटी में शोपियां को पुछ और राजोरी से जोड़ने वाली मुगल रोड को बंद करना पड़ा। वहीं श्रीनगर-लेह का राष्ट्रीय राजमार्ग भी खराब मौसम के कारण आवाजाही बंद हो गई है। ऐसे में लोगों को यातायात करने में खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। साथ ही जम्मू जाने वाले हवाई यात्रा पर भी असर पड़ने की उम्मीद है।

वहीं मौसम विभाग ने बताया कि आने वाले 18 फरवरी के बाद J&K के कई हिस्सों में हल्की बारिश के साथ बर्फबारी देखने को मिल सकती है। साथ ही तापमान में भी गिरावट देखने को मिलेगी।  ऐसे में लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी गई है। वहीं मौसम विभाग ने कश्मीर के अलावा लद्दाख में भी इसका असर दिखने की उम्मीद जताई है। बता दें, बीती रात लेह के तापमान में खासा कमी देखने को मिली थी। उस वक्त लेह का न्यूनतम तापमान माइनस 2.9 डिग्री सेल्यियस दर्ज किया गया था। ऐसे में अब यह माना जा रहा है कि आगामी दिनों में मौसम का मिजाज अभी और बिगड़ सकता है।साथ ही J&K  के कई इलाकों में शीतलहर की भी बढ़ने की संभावना है।