तेज रफ्तार से अमेरिका की ओर बढ़ रहा चक्रवात हेक्टर, बुधवार को हवाई द्वीप से हो सकती है टक्कर

New Delhi. प्रशांत महासागर की तरफ जा रहा हेक्टर चक्रवात अचानक शक्तिशाली हो गया है। अब आशंका है कि यह बुधवार को अमेरिका के हवाइ द्वीप से टकराएगा, जिससे इलाके में ज्वालामुखी का विस्फोट हो सकता है।

रविवार देर शाम को हेक्टर चक्रवात कैटेगरी 4 में बदल गया। राष्ट्रीय चक्रवात केंद्र के मुताबिक शनिवार को इसकी रफ्तार 130 किलोमीटर प्रतिघंटा हो गई है। शुक्रवार रात को यह चक्रवात तीसरी कैटेगरी में था। अचानक इसकी रफ्तार बढ़ने से अनुमान लगाया जा रहा है कि जल्द ही यह हवाइ के द्वीप से टकराने वाला है।

फिलहाल बताया जा रहा है कि यह तूफान हवाइ द्वीप से करीब 1390 मील दूर है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि यह चक्रवात द्वीप के दक्षिणी सिरे से बुधवार को टकराएगा। मेरीलैंड कॉलेज पार्क के मौसम पूर्वानुमान केंद्र ने बुधवार तक इसके द्वीप से टकराने की भविष्यवाणी की है।

कुछ अनुमानों का कहना है कि हेक्टर चक्रवात हवाइ द्वीप के किलाउआ चक्रवात से टकराएगा। आपको बता दें कि बीते मई महीने में दुनिया का सबसे बड़ा ज्वालामुखी विस्फोट हुआ था। कई दिनों से धधक रहे किलाउआ ज्वालामुखी के फटने से हजारों लोगों को बेघर होना पड़ा था।

बता दें कि पिछले कुछ समय से हवाइ द्वीप में लगातार ज्वालामुखी विस्फोट हो रहे हैं। इससे यह क्षेत्र काफी अशांति के दौर से गुजर रहा है। फिलहाल हेक्टर चक्रवात को लेकर अलर्ट जारी किया जा चुका है।

गौरतलब है कि हवाई प्रशांत महासागर स्थित एक राज्य है। यह अमेरिका के 50वें राज्य के तौर पर 1959 ई. में शामिल हुआ। सैन फ्रांसिसको से 3,344 किलोमीटर दक्षिण पश्चिम की दूरी पर स्थित है। इसका क्षेत्रफल 16,576 वर्ग किमी बताया जाता है। इसका अधिकांश हिस्सा पर्वतीय है और वैज्ञानिकों का कहना है कि यह ज्वालामुखी विस्फोट के कारण ही बना है। इसका अंधरुनी हिस्सा जंगली है और छोटी नदियों से भरी पड़ी हैं। यहां की जलवायु आर्द्र और सम है। व्यापारिक हवाओं के रास्ते में स्थित होने के कारण यह द्वीपसमूह अक्षांशों की ऊंचाई से भी अधिक ठंडे और शीतोष्ण हैं।

Leave a Reply