अयोध्या मामले की सुनवाई शुरू,जस्टिस बोबडे बोले-जमीन से नहीं लोगों की भावनाओ से जुड़ा है मामला

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

New Delhi: अयोध्या विवाद में मध्यस्थता के मुद्दे पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई शुरू हो चुकी है। पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट पर लगी होंगी। जस्टिस बोबडे बोले जमीन से नहीं लोगों की भावनाओ से जुड़ा है मामला

सुप्रीम कोर्ट की आज की सुनवाई में तय होगी कि अयोध्या में राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले का क्या मध्यस्थता के जरिए समाधान किया जा सकता है। इससे पहले 26 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह अगली सुनवाई में यह फैसला करेंगे कि इस मामले को मध्यस्थता के लिए भेजा जाए या नहीं।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने सुझाव दिया था कि दोनों पक्षकार बातचीत का रास्ता निकालने पर विचार करें। अगर बातचीत की थोड़ी बहुत गुंजाइश भी है तो उसका प्रयास होना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि दोनों पक्ष इस मामले में अदालत को अपने विचार से अवगत कराए।

मोदी सरकार ने याचिका दायर कर विवादित जमीन को को छोड़कर बाकी जमीना हटाने की मांग की है। सरकार ने इस जमीन को राम जन्मभूमि न्यास को लौटाने को कहा है। सरकार ने कोर्ट से कहा है कि विवाद सिर्फ 0.313 एकड़ जमीन पर ही है। बाकी जमीन पर कोई विवाद नहीं है।

दरअसल साल 1993 में केंद्र सरकार ने अयोध्या अधिग्रहण एक्ट के तहत विवादित स्थल के आस पास करीब 67 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया था। सुप्रीम कोर्ट ने इसी पर यथास्थिति बनाए रखने की बात कही थी। चर्चित राम मंदिर मुद्दे की सुनवाई पिछले काफी समय से टलते हुए आई है। जिसके चलते साधु संतों में खासा रोष है।

इनपुट-ANI