शादी के कार्ड पर PM मोदी के लिए वोट करने की अपील करना पड़ा भारी, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस

New Delhi: उत्तराखंड के बागेश्वर में एक परिवार को शादी के कार्य में पीएम मोदी के लिए वोटिंग की अपील करना भारी पड़ गया है।

पीएम मोदी को वोट देने का संदेश प्रकाशित करने के लेकर चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए वर पक्ष को नोटिस जारी किया है। चुनाव आयोग ने 24 घंटे के भीतर स्पष्टीकरण मांगा है और जवाब नहीं मिलने पर वर पक्ष पर आचार सहिंता का उल्लंघन और लोक प्रतिनिधित्व एक्ट में भी केस दर्ज हो सकता है।

उत्तराखंड के गरुण विकास खंड के ग्राम जोशीखोला, मटेना निवासी जगदीश जोशी और देवकी जोशी के बेट जीवन का विवाह 22 अप्रैल को है। बेटे के विवाहह के आमंत्रण के लिए कार्ड प्रकाशित कराए हैं। शादी के निमंत्रण कार्ड पर भाजपा के चुनाव चिन्ह कमल और भाजपा को वोट देने की अपील की गई है। चुनाव आयोग ने इसे आचार सहिंता का उल्लंघन का मामला माना है।

सहायक रिटर्निंग ऑफिसर राकेश चंद्र तिवारी ने दूल्हे के माता पिता देवकी देवी और जगदीश जोशी को नोटिस जारी करते हुए 24 घंटे के भीतर स्पष्टीकरण देने के निर्देश दिए हैं। नोटिस मे्ं साफ है कि यह आदर्श आचार सहिंता का घोर उल्लंघन है। अगर समय के भीतर जवाब नहीं मिलता है तो लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम व आईपीसी की अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

यही नहीं शादी के कार्ड में भाजपा का प्रचार करना दूल्हे के संग अल्मोड़ा सीट से भाजपा उम्मीदवार को भी महंगा पड़ सकता है। शादी के कार्ड छापने, भोजन, टेंट समेत दूसरे आयोजनों का खर्च भाजपा उम्मीदवारों के चुनावी खर्च मे जोड़ा जाएगी। हालांकि वर पक्ष की इस मामले पर सफाई के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

वर पक्ष ने शादी के कार्ड में अपील करते हुए लिखवाया है तोहफे मत लाना किंतु वर वधू को आशीर्वाद देने से पहले 11 अप्रैल को राष्ट्रहित में मोदी जी को वोट जरूर कर आना। कार्ड में स्वच्छ भारत और स्वस्थ भारत का लोगो भी बना है। दूल्हे जीवन जोशी का कहना है कि उनको इस बारे में अभी पता नहीं है।