गडकरी की बैठक में गोवा के नए CM के नाम पर नहीं बनी सहमति, नई सरकार बनने में लग सकता है समय

New Delhi: गोवा में नई सरकार बनने में अभी कुछ और समय लग सकता है। मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व वाली बीजेपी सकार में शामिल रही सहयोगी पार्टियों के बीच आम सहमति नहीं बनी हैं।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की आगुवाई में सोमवार को देर रात 12:30 बजे सरकार बनाने की संभावना पर बातचीत करने के लिए गोवा पहुंचे। गडकरी ने पर्रिकर सरकार में शामिल रहीं सहयोगी पार्टियों एमजीपी, गोवा फॉरवर्ड पार्टी के साथ निर्दलीय विधायकों से मुख्यमंत्री के संबंध में बातचीत की।

बीजेपी को उम्मीद थी की सहयोगियों से बात बनने के बाद सीएम के नए चेहरे की घोषणा हो जाएगी। साथ सोमवार दिन में साढ़ 9 बजे तक नई सरकार का गठन हो जाएगा। लेकिन मुख्यमंत्री के नाम को लेकर सहयोगी पार्टियों में आपसी सहमति नहीं बनी। गडकरी की इस बैठक में एमजीपी के 3 विधायक। गोवा फारवर्ड पार्टी के विधायकों के साथ 2 निर्दलीय विधायक भी बैठक में पहुंचे थे।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

पूर्व पंचायत मंत्री मौविन गौडिन्हो ने कहा कि चर्चा का दूसरा राउंड चलेगा। उन्होंने बताया कि बीजेपी की ओर से दो नाम सुझाए गए थे। वे दो नाम प्रमोद सावंत और विश्वजीत राणे हैं। उन्होंने बताया कि एमजीपी के सुदीन धाविकर भी मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। इस वजह से बात नहीं बन सकी।

प्रमोद सांवत गोवा विधानसभा के अध्यक्ष हैं। जबकि विश्वजीत राणे पर्रिकर कैबिनेट में स्वास्थ मंत्री थे। वह कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए हैं। इन सब घटनाक्रम के बीच कांग्रेस ने भी सरकार बनाने का दावा ठोका है। कांग्रेस राज्यपाल मृदुला सिन्हा को अपने पास बहुमत होने का दावा किया है।