चुनाव आयोग का बड़ा फैसला- मतदान से 48 घंटे पहले तक जारी करना होगा घोषणापत्र

New Delhi: भारतीय चुनाव आयोग ने बड़ा फैसला करते हुए राजनीतिक दलों के लिए चुनाव घोषणापत्र जारी करने की समयसीमा निर्धारित कर दी है।

चुनाव आयोग द्वारा शनिवार को चुनाव आचार सहिंता के नियमों में घोषणापत्र से संबंधित प्रावधानों को जोड़ते हुए कहा गया है कि मतदान से दो दिन पहले तक ही राजनीतिक दल अपने घोषणापत्र जारी कर सकेंगे। प्रचार अभियान थमने के बाद मतदान से 48 घंटे पहले की अवधि में घोषणापत्र जारी नहीं किया जा सकेगा।

चुनाव आयोग के प्रमुख सचिव नरेन्द्र एन बुतोलिया द्वारा सभी राजनीतिक दलों और राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को जारी दिशानिर्देश में निर्धारित की गई यह समयसीमा एक या एक से अधिक चरण वाले चुनाव में समान रूप से लागू होगी। पहले चरण के मतदान से पूर्व प्रचार थमने के बाद की अवधि में कोई भी पार्टी घोषणापत्र नहीं जारी कर सकेगी।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

साथ ही एक से अधिक चरण वाले चुनाव में भी प्रत्येक चरण के मतदान से पहले 48 घंटे की अवधि में घोषणापत्र जारी नहीं किए जा सकेंगेष आयोग के एक अधिकारी ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर स्पष्ट किया कि यह प्रावधान क्षेत्रीय दलों पर भी समान रूप से लागू होगा। मतदान से 48 घंटे पहले की अवधि में घोषणापत्र जारी नहीं कर सकेंगे।

चुनाव आयोग द्वारा की गई यह व्यवस्था भविष्य में होने वाले सभी चुनावों में लागू होगी। प्रचार अभियान थमने के बाद 48 घंटे की प्रचार प्रतिबंधित अवधि में घोषणापत्र को भी मतदाताओं को लुभाने के लिए किए जाने वाले प्रचार का ही एक स्वरूप मानते हुए आयोग ने यह व्यवस्था की है।