एयरसेल मैक्सिस मामले में चिदंबरम और उनके बेटे को मिली राहत, गिरफ्तारी पर 26 नवंबर तक लगी रोक

New Delhi: दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने चर्चित एयरसेल मैक्सिस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता P Chidambaram और उनके बेटे को बड़ी राहत दी है।

पटियाल हाउस कोर्ट ने एयरसेल मैक्सिस मनी लॉड्रिंग मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता P Chidambaram और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को बड़ी राहत देते हुए उनकी गिरफ्तारी पर 26 नवंबर तक रोक लगा दी है। दरअसल इस मामले में सीबीआई और ईडी ने P Chidambaram और उनके बेटे के खिलाफ केस दर्ज कर रखा है।

कोर्ट अब इस मामले की अगली सुनवाई 26 नवंबर को करेगा। इससे पहले अदालत ने पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की गिरफ्तारी पर 1 नवंबर तक रोक लगा दी थी। गुरुवार को हुई इस मामले की सुनवाई में कोर्ट ने कांग्रेसी नेता को 26 नवंबर तक राहत दी है।

हालांकि ईडी ने बुधवार को हुई सुनवाई में पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम की अग्रिम जमानत का विरोध किया था और कहा था कि दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जानी चाहिए। ईडी ने कोर्ट में कहा था कि चिदंबरम इस मामले की जांच में सहयोग नहीं कर रहे है इसलिए अगर उन्हें इस स्थिति में अग्रिम जमानत दे दी जाती है तो फिर जांच में परेशानी आ सकती है।

P Chidambaram,

इससे पहले पी चिदंबरम ने अपनी गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए 30 मई को कोर्ट में अपील की थी, जिसके बाद से लगातार उन्हें राहत मिलती आ रही है। अदालत ने कई मौको पर ईडी की गिरफ्तारी से चिदंबरम को राहत दिलाई है। ईडी ने इस मामले में चिदंबरम और उनके बेटे के खिलाफ 25 अक्टूबर को चार्जशीट दाखिल की थी। इस चार्चशीट में चिदंबरम को गलत तरीके से विदेशी निवेशकों के फंड को डायवर्ट करने के मामले में आरोपी बनाया गया है।

हालांकि इसमें चिदंबरम को एक झटका भी लगा है। दरअसल कार्ति चिदंबरम ने विदेश जाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। लेकिन कोर्ट ने कहा कि उनकी इस अपील पर अभी सुनवाई नहीं की जा सकती है। बीजेपी अक्सर इस बात को लेकर चिदंबरम और कांग्रेस को अपना निशाना बनाती रहती है।

Leave a Reply