‘Accidental Prime Minister’ पर बोले पीएल पुनिया,BJP का गेम, जनता का ध्यान भटकाना इनका उद्देश्य

NEW DELHI: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राजनीतिक जीवन पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ को लेकर विवादों का सिलसिला शुरू हो गया है। बीजेपी के अपने ट्विटर हैंडल से इसका प्रोमो ट्वीट किया और लिखा- इस ट्रेलर की कहानी बताती है कि कैसे एक परिवार ने दस सालों तक देश को बंधक बनाकर रखा। क्या डॉ मनमोहन सिंह सिर्फ इसलिए तब तक पीएम की कुर्सी पर बैठे थे, जब तक उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार न हो जाए? देखें इनसाइडर्स अकाउंट पर आधारित द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर, जो 11 जनवरी को रिलीज हो रही है।

बीजेपी के इस ट्वीट का जवाब देते हुए कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि यह बीजेपी का गेम है, उन्हें पता है कि 5 साल पूरे होने वाले हैं और उनके पास लोगों को दिखाने के लिए कुछ भी नहीं है इसलिए वे ध्यान बांटने के लिए इस रणनीति का उपयोग कर रहे हैं। वहीं जब इसको लेकर मीडिया ने मनमोहन से सवाल किया तो वे बिना जवाब दिए आगे बढ़ गए।

PL Punia

आपको बता दें कि कल यानी 27 दिसंबर को ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर लॉन्च हुआ। साल 2014 की घटनाओं पर आधारित इस फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह के साल 2004 से लेकर 2014 तक के कार्यकाल को दिखाया गया है कि वैसे वो 10 सालों तक काग्रेंस की हाथों की कटपुलती बनकर रहे थे।

बात करे फिल्म की तो पूरी फिर कहानी डॉ मनमोहन सिंह की जिंदगी के इर्द-गिर्द घूमती है। ट्रेलर के सोशल मीडिया पर आते ही लोगों ने एक्टर अनुपम खेर की एक्टिंग की तारीफों की झड़ी लगा दी। फिल्म में अर्थशास्त्री डॉ मनमोहन सिंह का रोल अनुपम ने निभाया है। लुक से लेकर उनके बोलने के तरीकों को देखकर आपको वाक्ई डॉ मनमोहन सिंह की याद आ जाएंगी। फिल्म में कई दमदार डायलॉग हैं.. जैसे मैं देश के लिए कुछ करना चाहता हूं…मैं अपने देश को नहीं बेच रहा हूं..।

ट्रेलर की बात करे तो शुरुआत में ही धमाकेदार डायलॉग से शुरूआत होती है। जिसमें कहा गया है कि… मुझे तो डॉ. साहब भीष्म जैसे लगते हैं। जिनमें कोई बुराई नहीं है। पर फैमिली ड्रामा के विक्टिम हो गए…महाभारत में दो फैमिलीज थीं…इंडिया में तो एक ही है। वहीं फिल्म में अक्षय खन्ना संजय बीरु का किरदार निभा रहे हैं। संजय मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार थे। वो हर कदम पर मनमोहन सिंह को गाइड करने का काम करते थे।