मिजोरम विधानसभा चुनाव में हुआ कमाल, इस पार्टी के प्रत्याशी को मिली सिर्फ 3 वोटों से जीत

New Delhi: पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में से एक मिजोरम विधानसभा चुनाव में एक अजीबोंगरीब आकड़ा देखने को मिला है। दरअसल मिजोरम में मिजो नेशनल फ्रंट ने कांग्रेस के 10 साल को शासन को उखाड़ फेंका हैं।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में शाम तक घोषित नतीजों में सबसे छोटी जीत हासिल करने वाले उम्मीदवार मिजो नेशनल फ्रंट के ललछनदामा राल्ते हैं। मिजोरम में राल्ते ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस के आरएल पियनमाविया को सिर्फ 3 वोट के मामूली से अंतर से पराजित किया है। जो वाकई में चौंकाने वाला हैं।

मिजोरम विधानसभा चुनाव में क्षेत्रीय पार्टी मिजो नेशनल फ्रंट के उम्मीदवार ललछनदामा राल्ते ने कांग्रेस के आरएल पियनमाविया को महज तीन मतों से पराजित कर दिया। साल 2013 के विधानसभा चुनाव में पियनमाविया को 1371 मतों से जीत हासिल हुई थीं। लेकिन इस चुनाव में सिर्फ 3 वोटों से मिली उनको हार काफी परेशान कर सकती हैं।

Mizoram

मिजोरम के विधानसभा चुनाव में दो अन्य उम्मीदवारों ने अपने निकटतम विरोधियों को 100 वोटों से कम मतों के अंतर से पराजित किया है। मिजो नेशनल फ्रंट के लावमावमा टोचांग ने निर्दलीय उम्मीदवार लालरिनपुई को 72 मतों से पराजित किया। इसी तरह मिजो नेशनलर फ्रंट के सी लालरिनसांगा ने कांग्रेस के चालरोसांगा राल्ते को 77 मतों से पराजित किया।

दूसरी तरफ तेलंगाना में टीआरएस के अध्यक्ष के चंद्रेशेखर राव के भतीजे टी हरीश राव ने तेलंगाना विधानसभा चुनाव में सिद्दीपेट सीट से 1.20 लाख मतों के अंतर से जीत दर्ज की। लेकिन मिजोरम का ये चुनाव परिणाम काफी चौंकाने वाला हैं। शायद ये पहली बार होगा कि विधानसभा चुनाव में किसी उम्मीदवा को 3 वोटों से जीत और किसी उम्मीदवार को 3 वोटों से हार मिली हो।