भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है Bhai Dooj, जानिए कब है इसका शुभ मुहुर्त

New Delhi: Bhai Dooj को भाई बहन के प्रेम के प्रतीक माना जाता है। इस त्यौहार को दिवाली के तीसरे दिन मनाया जाता है, जिसमें बहन अपने भाई को तिलक कर भाई के लिए लंबी उम्र की कामना करती है। इस बार Bhai Dooj 9 नंवबर को मनाया जाएगा। यह पर्व कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को मनाया जाता है।
Bhai Dooj के मौके पर बहन अपने भाई चौकी पर बिठाकर पूजा करती है। इसके बाद उसके माथे पर तिलक लगाती है। इस दौरान उसके माथे पर फूल, पान सुपारी छोड़ते हुए मंत्र पड़ती है। वहीं बहन अपने भाई के हाथों में कलावा बांधती है। इसके बाद भाई को मिठाई खिलाती है और लम्बी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य की कामना करती है। हिंदू मान्यता के अनुसार Bhai Dooj के मौके पर यमराज के नाम पर दीपक भी जलाती है और इस दिए को घर के दहलीज के पास रखती है, ताकि भाई का जीवन सुखमय रह सके।

अगर इस बार होने वाले Bhai Dooj के समयावधि की बात करे तो इस बार टीका का मुहर्त 8 नवंबर 2018 को 22:37 बजे से शुरू होकर 9 नवंबर 2018 को 22:50 बजे समाप्त होगी।
अगर किसी की बहन नहीं है तो भैया दूज पर ऐसे लोग नदी या फिर गाय का ध्यान करके भोजन करना चाहिए। वहीं भैया दूज के मौके पर यमराज की पूजा का विशेष महत्व भी होता है।

बता दें, हिन्दू मान्यता के अनुसार भाई बहन के स्नेह और सदभाव के दो त्यौहार मनाए जाते हैं। इसमें एक त्यौहार तो रक्षाबंधन होता है तो वहीं दूसरा त्यौहार भाई दूज माना जाता है। इस पर्व का सबसे बड़ा लक्ष्य भाई-बहन के बीच संबंध और प्रेमभावना की स्थापना करना है।

One Comment on “भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है Bhai Dooj, जानिए कब है इसका शुभ मुहुर्त”

Leave a Reply