जवानों की शहाद’त पर राजनीति,येदियुरप्पा बोले पाक पर ह’मला करने से जीतेंगे 28 में से 22 सीटें

New Delhi: एक तरफ जहां आंतक से लड़ने के लिए पूरा देश एक साथ खड़ा है, वहीं बीजेपी इस पर राजनीती करने के बाज नहीं आ रही है। मंगलवार को अमित शाह ने एयर स्ट्राइक को वोट मांगने का मुद्दा बनाया है।

तो वहीं दूसरी तरफ हाल ही में कर्नाटक बीजेपी के प्रमुख बी. एस. येदियुरप्पा ने बुधवार को कहा है कि पाकिस्तान में आतं’की कैंपों पर भारत के अचानक किए गए हम’ले से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में लहर बनी है। साथ ही उन्होनें कहा है कि मोदी सरकार के इस कदम से आने वाले चुनाव में राज्य में 28 में 22 सीटें जीतने की संभावना हो सकती है।

Quaint Media,Quaint Media consultant pvt ltd,Quaint Media archives,Quaint Media pvt ltd archives,Live India Hindi,Live News

साथ ही येदियुरप्पा ने ये भी कहा है कि दिनों-दिन बीजेपी के पक्ष में लहर बनती जा रही है। देश में मोदी के समर्थन में लहर बनी है और इसका नतीजा आगामी लोकसभा चुनाव में नजर आ सकता है। बता दें कि इस समय बीजेपी के पास 16 लोकसभा सीटें हैं।

इससे पहले भी उत्तरप्रदेश के गाजीपुर में आमित शाह ने एयर स्ट्राइक के नाम पर प्रधानमंत्री मोदी के लिए वोट मांग रहे थें। साथ ही कहा कि अब आप लोग ही बताएं देश की रक्षा कौन कर सकता है? SP-BSP-RLD का गठबंधन या हमारे मोदी जी?

The Hindu के मुताबिक अमित शाह मंगलवार को उत्तरप्रदेश में चौपाल को संबोधित कर रहे थें। जहां उन्होनें लोगों से साल 2019 के चुनाव के लिए प्रधानमंत्री मोदी जी के लिए वोट मांगे हैं। मंगलवार को भारतीय सेना की तरफ पाकिस्तान पर किए गए एयर स्ट्राइक पर अमित शाह ने कहा था कि कौन दे सकता है पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब, कौन देश से आतं’क को हमेशा के लिए खत्म कर सकता है। बता दें कि उन्होनें इस एयर स्ट्राइक को वोट मांगने के लिए एक मुद्दा बनाया है।

ये वही पार्टी है जिन्होंने विपक्ष से ये अपील की थी की आतं’कवाद और इस मुद्दे पर कोई राजनीती ना करे बल्कि ये समय है देश के लिए एक साथ खड़े हो। पुलवामा हम’ले के बाद जब भी विपक्ष ने मोदी सरकार पर सावल किया है तभी बीजेपी ने कहा है कि ये समय है जब पूरा देश एक साथ जुट कर इसका जवाब दे, ना कि किसी तरही की राजनीती करने का। इसके साथ ही गाजीपुर में अपने भाषण के दौरान आमित शाह ने ये कहा है कि हमारे प्रधानमंत्री ने पूरी दुनिया को एक संदेश दिया है कि हम अपनी देश की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।