काम आई धोनी की कभी हार न मानने वाली सोच और मसूद अजहर पर UN में लग गया बैन

New Delhi : UN ने ‘जैश-ए-मोहम्मद’ सरगना मसूद अजहर को कल यानी कि बुधवार को ‘वैश्विक आतंकवादी’ घोषित कर दिया। भारत के लिए यह एक बड़ी कूटनीतिक है। चीन इस पर चार बार अड़ंगा लगा चुका था लेकिन इस बार उसने प्रस्ताव का विरोध नहीं किया। अब आपको बताते हैं कि UN में भी भारत की जीत का कनेक्शन धोनी से जुड़ा हुआ है।

जी हां, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन की माने तो यहां भी धोनी की कभी हार ना मानने वाली सोच काम आई। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, उन्होंने कहा, मैंने धोनी की ‘कभी हार न मानने वाली’ सोच का अनुसरण किया। अकबरूद्दीन ने कहा कि यह हमारे लिए एक महत्वपूर्ण परिणाम है क्योंकि हम इसके लिए कई बरसों से जुटे हुए थे। इस सिलसिले में पहली बार 2009 में कोशिश की गई थी। हाल-फिलहाल में हमने इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में अपनी सारी कोशिशें की। आज यह लक्ष्य हासिल हो गया।

संयुक्त राष्ट्र के इस कदम के बाद अब अजहर की संपत्ति जब्त हो सकेगी और उस पर यात्रा प्रतिबंध तथा हथियार संबंधी प्रतिबंध लग सकेगा। यह प्रतिबंध लगाए जाने पर संगठन या व्यक्ति की संपत्ति और अन्य वित्तीय संपत्ति या आर्थिक संसाधनों को जब्त किए जाने का कार्य सभी देशों द्वारा बगैर किसी विलंब के करने की जरूरत होती है।

हाल के दिनों में ये संकेत मिल रहे थे कि चीन के अपना रुख बदलने और अजहर पर प्रस्ताव पर अपनी रोक हटाने की संभावना है। अजहर पर प्रतिबंध लगाने के ताजा प्रस्ताव पर चीन ने मार्च में वीटो लगा दिया था, उसे वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने के लिए पिछले 10 साल में संयुक्त राष्ट्र में लाया गया यह ऐसा चौथा प्रस्ताव था। सबसे पहले 2009 में भारत ने प्रस्ताव लाया था। फिर 2016 में भारत ने अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के साथ मिलकर संयुक्त राष्ट्र की 1267 प्रतिबंध परिषद के समक्ष दूसरी बार प्रस्ताव रखा। इन्हीं देशों के समर्थन के साथ भारत ने 2017 में तीसरी बार यह प्रस्ताव लाया। हालांकि इन सभी मौकों पर चीन ने प्रतिबंध समिति द्वारा इस प्रस्ताव को स्वीकार किए जाने में अड़ंगा डाल दिया।

The post काम आई धोनी की कभी हार न मानने वाली सोच और मसूद अजहर पर UN में लग गया बैन appeared first on Live Bihar.